अनु सिंह चौधरी

मैं कहीं भी रहूं, मेरी जड़े बिहार में ही हैं – अनु सिंह चौधरी

अमेजन पर कोई किताब ढूंढते ढूंढते एक किताब पर नजर पड़ी “नीला स्कार्फ”। जिज्ञासा जागी की एक स्कार्फ पर पूरी किताब में क्या लिखा होगा किसी ने। लेखिका का नाम था “अनु सिंह चौधरी”। किताब आर्डर कर दी,पढने पर बिहार की ख...
Phanishwar Nath 'Renu' फणीश्वर नाथ "रेणु" फणीश्वर नाथ "रेणु"

हम सब के रेणु

- गिरीन्द्र नाथ झा रेणु अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन खेत में जब भी फ़सल की हरियाली देखता हूं तो लगता है कि रेणु हैं, हर खेत के मोड़ पे। उन्हें हम सब आँचलिक कथाकार कहते हैं लेकिन सच यह है कि वे उस फ़सल...