CHOWTAL: The lost tune once sang to herald Holi deserves a revival

Source: Getty Images " पपीहा बन बैन सुनावे नींद नहीं आवे।।  आधीरात भई जब सखिया कामबिरह संतावे।।  पियबिन चैन मनहि नहीं आवत,  सखि जोबन जोर जानवे ।।१।।  फागुन मस्त महीना सजनी पियबिन मोहिं न भावे । ...
भोजपुरी, ja ja re sugna

Watch: मजरूह सुल्तानपुरी का लिखा यह गाना भोजपुरी संगीत के बारे में आपकी सोच बदल देगा

बिहार और गीत संगीत का रिश्ता काफ़ी पुराना रहा है, मगर हाल के वर्षों में अश्लील और फूहड़ भोजपुरी गानों की वजह से बिहार की छवि काफ़ी धूमिल हुई है। लोगों के दिमाग में बिहारी गानों का मतलब सिर्फ़ घटिया गाने हैं जिनका ब...
आइब गेलियौ परदेस, Maithili song

अगर आप भी बिहार से दूर रहते हैं तो ये मैथिली गीत आपके लिए है

अपने प्रदेश की भाषा की बात ही कुछ और होती है। मिथिलांचल के करीब होने के कारण मैथिली भाषा की मिठास से भली भांति अवगत हूँ। अब इस मिठास में मधुर संगीत और हरिहरन जी की आवाज़ मिल जाये तो क्या बात हो? “आइब गेलियौ परदे...

अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस को सुनिए ये भोजपुरी गाना

आज अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस मनाया जा रहा है। 2000 से हर साल की 21 फरवरी को विश्वव्यापी तौर पर मनाया जाने वाला ये दिवस हर भाषा के महत्त्व और  बहुसंस्कृतिवाद के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता ...

इस बार छठ छूट न पाए | अपनी परंपरा बचाये रखने की सीख देता ये वीडियो “कबहू ना छूटी छठ”

दिवाली की रात के बाद की ही सुबह से हवाओं में हल्की ठण्ड के साथ छठ की आहट आने लगती है। चारो ओर की चहल पहल इस महापर्व के नज़दीक आने का इशारा करने लगती है। लोगों में तो उत्साह और हर्षोल्लास की लहर होती ही है इसके स...

भोजपुरी संगीत के अच्छे दिनों की याद दिलाता “होली हमरा ना भावे”

नबीन चंद्रकला कुमार के फेसबुक पोस्ट से साभार : फगुआ के गीतन में विविधता बा , फगुआ माने खलिहा जोगीरा आ कबीरा ना ह , फगुआ मे बिरह बा ठिठोली बा महीनी बा बोलबाजी बा । फगुआ के गीतन में सामाजिकता बा , धार्मिक सनेश ब...