फणीश्वर नाथ ‘रेणु’ से मुलाक़ात : पटना की यादों का एक पन्ना | निवेदिता शकील की ज़ुबानी

पटना शहर के अतीत के पिटारे में साहित्यिक सम्पदा का खजाना भरा है। इस शहर का बड़ा ही आत्मिक नाता बिहार और देश के विलक्षण साहित्यिक प्रतिभाओं से रहा है। इस शहर की पुरानी गलियां, पुराने ठिकाने और पुरानी इमारतें अपने...

इतिहास के पन्नों में बनता बदलता पटना | निवेदिता शकील की ज़ुबानी

पाटलिपुत्र से अज़ीमाबाद से पटना तक के सफर में ये शहर कितने ही बदलावों, आंदोलनों, विचारधाराओं और कला एवं संस्कृति का गढ़ रहा है। अतीत से अब तक के इस सफर और इस सफर के तमाम पड़ावों की तस्वीर निवेदिता शकील शब्दों के ज़...