बटुकेश्वर दत्त का सबकुछ पटना में है, मगर वे पटना वालों के दिल में नहीं हैं?

यह हमारी विडंबना है कि हम आजादी के मतवालों में सिर्फ उन्हें याद रखते हैं, जो या तो शहीद हो गया या आजादी के बात किसी कुरसी पर बैठ गया. यह वजह है कि इस देश में फांसी पर चढ़ने वाले भगत सिंह और अंगरेजों की गोली का शिकार होने वाले चंद्रशेखर आजाद की जयंतियां […]