अगर आप भी बिहार से दूर रहते हैं तो ये मैथिली गीत आपके लिए है

अपने प्रदेश की भाषा की बात ही कुछ और होती है। मिथिलांचल के करीब होने के कारण मैथिली भाषा की मिठास से भली भांति अवगत हूँ। अब इस मिठास में मधुर संगीत और हरिहरन जी की आवाज़ मिल जाये तो क्या बात हो? “आइब गेलियौ परदेस गे मै रहबौ कोनाक तोरा बिन”। ये गाना सुनेंगे तो आपको […]

मैं कहीं भी रहूं, मेरी जड़े बिहार में ही हैं – अनु सिंह चौधरी

अमेजन पर कोई किताब ढूंढते ढूंढते एक किताब पर नजर पड़ी “नीला स्कार्फ”। जिज्ञासा जागी की एक स्कार्फ पर पूरी किताब में क्या लिखा होगा किसी ने। लेखिका का नाम था “अनु सिंह चौधरी”। किताब आर्डर कर दी,पढने पर बिहार की खुशबू थी किताब में। मुझसे रहा नही गया, तुरंत नाम गूगल किया, जानकारी तो […]

जाने बिहार के स्वतंत्रता सेनानी डॉ राजेंद्र प्रसाद कैसे बने देश के पहले राष्ट्रपति

उन्होंने देश की सेवा केवल राष्ट्रपति बनकर नहीं की बल्कि उस से बहुत पहले से वो देश की आजादी के संघर्ष का सक्रिय हिस्सा थे। “जो बात सिद्धांत में गलत है वह व्यवहार में भी उचित नहीं है” -डॉ राजेंद्र प्रसाद 3 दिसम्बर 1884 को जीरादेइ, बिहार में महादेव सहाय और कमलेश्वरी देवी के घर […]

पटना का ये संस्थान करा रहा है अमेरिकी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई

हम भारतीयों के लिए कोई नयी बात नहीं है की हम बेहतर शिक्षा और रोजगार के बेहतर अवसरों की खातिर सात समुन्दर पार तक चले जाते हैं। क्यूंकि हमारे यहाँ अच्छी शिक्षा और अच्छे अवसर सिर्फ उन्ही को प्राप्त होते हैं जो या तो मेधावी होते हैं या फिर धनवान। जो इन दोनों में से […]

“रेखना मेरी जान” के रत्नेश्वर कुमार सिंह से एक ख़ास बातचीत

हाल ही में अपनी किताब रेखना मेरी जान के लिए  पौने दो करोड़ का करार साइन करने वाले रत्नेश्वर जी पटना के निवासी हैं | रेखना मेरी जान उनकी उन्नीसवीं किताब है. नेशनल बुक ट्रस्ट से मीडिया पर एक किताब मीडिया लाइव छपी है, जीत का जादू और फिर उसकी अंग्रेजी में आई किताब मैजिक इन यू […]

उसे भी देख, जो भीतर भरा अंगार है साथी | एक कविता बिहार से

 उसे भी देख, जो भीतर भरा अंगार है साथी। सियाही देखता है, देखता है तू अन्धेरे को, किरण को घेर कर छाये हुए विकराल घेरे को। उसे भी देख, जो इस बाहरी तम को बहा सकती, दबी तेरे लहू में रौशनी की धार है साथी। पड़ी थी नींव तेरी चाँद-सूरज के उजाले पर, तपस्या पर, […]

पटना के युवा कार्टूनिस्ट गौरव की दूसरी शार्ट फिल्म साँझ

आजकल की आपाधापी में एक पूरी फिल्म देखने का वक़्त हर किसी के पास नहीं होता। ऐसे में कही अनकही बातों को कम समय में आपके मोबाइल और लैपटॉप की स्क्रीन पर उभारने का काम करती हैं शार्ट फ़िल्में। ये फ़िल्में मिनटों में कई ऐसी बातें कह जाती हैं जो शायद एक दो घंटे की […]

राइडर राकेश, वो बिहारी जो साइकिल पे निकला है लिंग-भेद मिटाने

  साइकिल चलाने से क्या क्या फायदे हो सकते हैं आपके हिसाब से? आप कहेंगे वजन कम होता है, मांसपेशियाँ मजबूत होती है, इंधन बचता है वगैरह वगैरह। पर यहाँ मामला कुछ और है। ये जनाब रोजाना ६०-७० किलोमीटर साइकिल चलाते हैं और पिछले तीन सालों से लगातार चला रहे हैं। पर अपनी खातिर नहीं, […]

एक नाटककार, अभिनेता और आर्किटेक्ट से मुलाकात | अभिषेक शर्मा

पटना के ईस्ट बोरिंग कैनाल रोड में एक आर्किटेक्ट का ऑफिस है “प्रयोग”। वहां आर्किटेक्ट अभिषेक शर्मा जी बैठते हैं। जब पहली बार उनसे मिली थी तो कभी नहीं सोचा था उस गंभीर चेहरे के पीछे एक अभिनेता भी छुपा हुआ है। फिर जल्दी ही कालिदास रंगालय में जब अभिषेक जी को “उगना रे मोर […]

भोजपुरी ही मेरी भाषा है – अमित मिसिर, डायरेक्टर ललका गुलाब

 इनसे मिलिए ! ये हैं अमित मिसिर, ठेठ भोजपुरिया. हों भी क्यों ना? आखिर डुमरांव के जो ठहरे. डुमरांव वैसा बिलकुल नहीं है जो श्रीमान चेतन भगत अपनी किताब और फिल्म में दिखाते हैं. और न ही भोजपुरी वैसी है जो अपनी आगामी फिल्म में बोनी कपूर के सुपुत्र दिखाना चाह रहे हैं. भोजपुरी सुने […]

निकिता सिंह | ये बिहारी लेखिका सफलता के नए आयाम लिख रही है।

ये बिहारी लेखिका सफलता के नए आयाम लिख रही है। हाल ही में निकिता सिंह ने अपनी दसवीं नॉवेल को लांच किया है। रोमांस लिखने वाले लेखकों में निकिता सिंह एक जाना माना नाम है। २५ वर्ष की उम्र में ही १० नॉवेल लिख डालने वाली निकिता मूल रूप से बिहार से हैं। निकिता की […]

जानिये कुछ बातें तीज के बारे में।

४ सितम्बर को बिहार में तीज मनायी जाएगी। इसे हरितालिका तीज भी कहते हैं। छतीसगढ़ में इसे तीजा कहते हैं और नेपाली तथा हिंदी में तीज। देश के कुछ हिस्सों में कजली तीज और हरयाली तीज भी मनाई जाती है. नाम चाहे जो भी हो इस त्यौहार का उद्देश्य सिर्फ एक होता है, अखंड सौभाग्य […]

बिहार के इस यूथ आइकॉन को मिलेगा अटल मिथिला सम्मान!

प्रतिभा हो या हौसला,इसका उम्र से कोई लेना देना नहीं होता। इस बात का जीता जागता सबूत हैं अश्विनी झा जो बेहद कम उम्र में मानवता की सेवा के लिए कई सम्मान पा चुके हैं। पहले वे २२ फ़रवरी को वर्ल्ड स्काउट डे के अवसर पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा लार्ड बेडेन पॉवेल नेशनल अवार्ड […]

बिहार की धरती पर रामायण के पद्चिन्ह |

बिहार की धरती यूँ तो कई ऐतिहासिक घटनाओं की साक्षी रही है. पर यहाँ हम बात करेंगे रामायण की उन  घटनाओं की  जो बिहार की धरती पर हुई हैं | सर्वप्रथम हम सीता माता के जन्म की बात करेंगे, जैसा की आप सभी जानते हैं सीता माता राजा जनक की पुत्री थीं | राजा जनक का […]