बिहार के मीडिया

लोकतंत्र का चौथा स्तंभ, बिहार में कब हुआ आरंभ?

आज हम बिहार के मीडिया की बात करेंगे। हां ये बात और है कि मीडिया का नाम सुनते ही सुशांत सिंह राजपूत, ड्रग्स, कंगना और दिलजीत दोसांझ के ट्वीट फाइट ज़रूर याद आएंगे।  इन सब चीज़ों के बारे में तो आए दिन हम सब सुनते ...

अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस को सुनिए ये भोजपुरी गाना

आज अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस मनाया जा रहा है। 2000 से हर साल की 21 फरवरी को विश्वव्यापी तौर पर मनाया जाने वाला ये दिवस हर भाषा के महत्त्व और  बहुसंस्कृतिवाद के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता है। इस दिवस के मनाये जाने का प्रमुख कारण दुनिया भर...
भोजपुरी शार्ट फ़िल्म 'दान', Bhojpuri short film, PatnaBeats

बालिका शिक्षा और रक्तदान का संदेश फैलाती भोजपुरी शार्ट फ़िल्म ‘दान’

अक्सर ऐसा होता है कि ज़िन्दगी में कुछ ऐसे छोटे छोटे अनुभव होते हैं जो आपको अंदर तक छू जाते हैं। इन अनुभवों का प्रभाव ऐसा होता है कि आप और आपकी सोच मूल रूप से हमेशा के लिए बदल जाती है। एक ऐसा ही अनुभव है राजू उपा...
अनारकली ऑफ़ आरा

Anaarkali of Aarah: नारी शक्ति का तांडव | एक फिल्म समीक्षा

"अनारकली ऑफ़ आरा", इस फिल्म का इंतज़ार तब से ही था जब से इसका नाम पहली बार सुना था और इस लंबे इंतज़ार के बाद इस फिल्म को देख कर वैसी ही संतुष्टि हुई जैसी कि गर्मी से अकुलाई धरती पहली बारिश के बाद महसूस करती होगी। ...
Bodhisattva International Film Festival, BIFF

बोधिसत्त्व इंटरनेशनल फिल्‍म फेस्टिवल से लौटेगा बिहार का सांस्कृतिक गौरव

लोकरूचि-फेस्टिबल सांस्कृतिक गौरव फेस्टिबल से लौटेगा बिहार का सांस्कृतिक गौरव :गंगा कुमार   पटना 15 फरवरी 2017 : बोधिसत्त्व इंटरनेशनल फिल्‍म फेस्टिवल (बीआईएफएफ) 2017 के चेयरमैन गंगा कुमार का कहना है कि बिहार की पावन धरती पर फिल्म महोत्सव के आयोजन किय...

इतिहास के पन्नों में बनता बदलता पटना | निवेदिता शकील की ज़ुबानी

पाटलिपुत्र से अज़ीमाबाद से पटना तक के सफर में ये शहर कितने ही बदलावों, आंदोलनों, विचारधाराओं और कला एवं संस्कृति का गढ़ रहा है। अतीत से अब तक के इस सफर और इस सफर के तमाम पड़ावों की तस्वीर निवेदिता शकील शब्दों के ज़...
Dr. Manas Bihari Verma तेजस, डॉ मानस बिहारी वर्मा

दरभंगा का वैज्ञानिक और लड़ाकू विमान तेजस |

देश के सैन्य विमानन क्षेत्र में बड़ा आयाम तय करते हुए तेजस ने जब बेंगलुरू में उड़ान भरी, तो वहां से मीलों दूर बिहार के दरभंगा में डॉ मानस बिहारी वर्मा की आखें ख़ुशी से चमक उठी। उनका पुराना सपना साकार हो गया था। ...
भोजपुरी कहावतें

जरूर पढ़िए भोजपुरी की एक सौ एक लोकप्रिय कहावतें

कहावतें, लोकोक्तियाँ, मुहावरे; ऐसी बातें जो वर्षों के अनुभव के आधार पर हमारे बुजुर्गों ने सीख के तौर पर कहनी शुरू कीं| मौसम, जानवर, प्रकृति या इंसानी प्रवृति के गहन अध्ययन से निकली ये बातें निश्चित तौर पर सच के करीब हैं और इनका इस्तेमाल उदहारण की तरह किया जा...
महेंदर मिसिर, Chandan Tiwari, Pubaiya taan

पुरबी के जनक कवि महेंदर मिसिर के गीतों को गाते हुए

आज महेंदर मिसिर की पुण्यतिथि है. किसी रचनाकार, कलाकार, सर्जक को याद करने के लिए उसके जयंती से ज्यादा महत्वपूर्ण  पुण्यतिथि है,क्योंकि जिस दिन वह दुनिया से विदा होता है तो अपने दम पर एक थांति छोड़ जाता है| ज...

बिहार में कलेक्‍टर ने जलसंकट रोकने के लिए लगा दी जी जान, ऐसे रचा नया इतिहास, देश भर में कायम हुई मिसाल

-हिमांशु झा आज देश के लिए पानी एक गंभीर चुनौती बनी हुई है। चारों तरफ इस पर राजनीति हो रही है, तो वहीं दिल्ली से हजारो किलोमीटर दूर बिहार के सीतामढ़ी जिले में जल संरक्षण को लेकर एक अनूठी पहल की गई है। महाराष्ट्र के लातूर जिले में आए जलसंकट को देखते हुए सीतीम...
खुदाबक़्श खान

किताबों का आशिक मौलवी खुदाबक़्श खान |

दुनिया के दूसरे सबसे बड़े ग्रंथालय खुदा बख्श ओरियंटल पब्लिक लाइब्रेरी के संस्थापक खुदाबक़्श खान की जयंती पर जानिये इस लाइब्रेरी के महत्व की कहानी. खुदाबक़्श ओरियेन्टल लाइब्रेरी भारत के सबसे प्राचीन पुस्तकालयों...
बिहार की सर्दी

बिहार में सर्दी कि हवा कभी नरम, कभी गर्म, कभी बढ़ता तो कभी घटता!

ठंड के मौसम ने बिहार में दी दस्तक। नवंबर से बिहार में ठंड शुरू हो गई और मार्च तक बिहारवासी इस मौसम का मज़ा लेंगे। सर्दी के मौसम में जो सबसे आम चीज़ बिहार में देखने को मिलती है वो है अंगीठी के आस पास लगा लोगो...
सिक्की कला

बिहार की परम्परा से जुड़ी नायाब कलाओं में से एक : सिक्की कला

  बिहार में अनेक कला और अनेक ऐतिहासिक धरोहर मौजूद है। कई कलाएं ऐसी हैं जिनकी शुरुआत बिहार से ही हुई और पहले की तरह इसे आज भी लोगों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है। ऐसी ही एक बहुत पुरानी कला है सिक्की कला जिसकी शुरुआत बिहार से ही हुई थी और फिर कहीं ...
नए साल का आगमन

हर बार से कैसे अलग है इस बार के कोरोना काल में नए साल का आगमन?

  बिहार में इलेक्शन का टेंशन और कोरोना की बातें, दोनों ही कर - कर के लोग भी आज की तारीख़ में थक चुके हैं, नया साल आ रहा है तो थोड़ी अच्छी बातें कर लेते हैं। अब चाहे कोरोना वैक्सीन हो या किसान बिल पर...
Bindeshwari Prasad Sinha

बिंदेश्वरी प्रसाद सिन्हा, जिन्होंने अपनी लेखनी से दी बिहार को नई पहचान।

बिहार के लेखकों के बारे में जब भी चर्चा होती है तो हमें सिर्फ कुछ गिने चुने नाम ही याद आते हैं, जैसे - आचार्य शिवपूजन सहाय, दिवाकर प्रसाद विद्यार्थी, रामधारी सिंह 'दिनकर’, राम बक्षी बेनीपुरी, फणीश्वर नाथ ' ...
School

साल की शुरुआत, कोरोना काल में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान खुलने के साथ।

रविवार यानी सभी के लिए छुट्टी का दिन। पूरे सप्ताह में सभी को रविवार का इंतजार बेसब्री से होता है, क्योंकि पूरे सप्ताह पढ़ कर और काम कर सब थक जाते हैं। लेकिन कोरोना वायरस के कारण इस साल सभी को इतनी लंबी छुट्...
lockdown in state

Top 2020 Emotions Pandemic Taught Us And Reminisced Forever!!

All's well that ends well! Isn't it the well-known expression by our Shakespeare sir yet is it actually the consummation we are anticipating? 2020 was not in excess of an Indian T.V sequential indicating exciting bends in the road constantly. The year which be...
क्रिश्चियनिटी

बिहार में ईसाई धर्म की ऐतिहासिक धरोहर

क्रिसमस में भले ही बच्चों के लिए सांता क्लॉज़ तौहफे लाते हो लेकिन बिहार के बच्चों के लिए पक्कल दढ़ीया वाला बुढ़वा ही क्रिसमस में अपना झोला लेकर आता है और बच्चा चिल्लाता है  देखो ' सांता आवेला'। क्रिसमस में ...