रोहतास की ऋचा पहली महिला लोको पायलट बन भारतीय रेलवे में रचा इतिहास

बिहार के रोहतास जिला की रहने वाली ऋचा कुमारी ने भारतीय रेल के इतिहास में अपना नाम दर्ज करा लिया है। ऋचा पूर्व मध्य रेलवे की पहली लोको पायलट हैं। दरअसल इससे पहले भी देश के कुछ हिस्सों में महिला ट्रेन चालकों ने ट्रेनों को चलाने का काम किया है, लेकिन पूर्व मध्य रेल के मुगलसराय डिवीजन में यह पहली बार हुआ, जब ट्रेन की बागडोर किसी महिला को सौंपी गई थी।

ऋचा कुमारी कहती हैं कि ने लोको पायलट बनने का सपना था, जो पूरा हुआ। क्षेत्र में दूर-दूर तक रेलवे से कोई वास्ता नहीं होने के बावजूद मजबूत हौसले और पक्के इरादे की वजह से पायलट बन पाई हूँ। ऋचा ने इलेक्ट्रॉनिक में डिप्लोमा करने के बाद लोको पायलट के रूप में अपने करियर कि शुरुआत करने का जो हौसला मन में रखा था, परिवार वालों की वजह से पूरा हुआ है।

 

 

Comments

comments