इस अभिनेता को मुंबई में ‘बिहार सम्मान’ से सम्मानित किया गया

कल, 11 अप्रैल को मशहूर अभिनेता पंकज त्रिपाठी को मुम्बई में बिहार दिवस उत्सव में 2018 के “बिहार सम्मान” से पुरस्कृत किया गया। पंकज त्रिपाठी को ये सम्मान सिनेमा जगत में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया गया।

बिहार से आनेवाले बेहतरीन अभिनेताओं की फेहरिस्त में पंकज त्रिपाठी का नाम पुख्ता तौर से जुड़ गया है। गोपालगंज के बेलसंड गांव से अपना सफर शुरू कर आज देश-विदेश में अपने अभिनय का लोहा मनवाने वाले इस अभिनेता को पहचान अनुराग कश्यप के “गैंग्स ऑफ वासेपुर” से मिली। इस फ़िल्म में सुलतान कुरैशी के किरदार में इनके बेहतरीन अभिनय ने इन्हें बेहिसाब ख्याति दिलवाई। दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के छात्र रहे त्रिपाठी को जब बरसों संघर्षरत रहने के बाद ये मौका मिला तो उन्होंने पीछे मुड़ के नहीं देखा।

साल 2017 पंकज त्रिपाठी के कैरियर के लिए असाधारण साबित हुआ। इस साल उन्होंने कुल 12 फिल्मों में काम किया जिनमें से प्रमुख ‘बरेली की बर्फी’, ‘गुड़गांव’, ‘न्यूटन’ और ‘मैंगों ड्रीम्स’ रही। जहां ‘गुड़गांव’ में उनके लीड रोल की आलोचकों ने बहुत तारीफ की तो वहीं ‘न्यूटन’ भारत की ओर से ऑस्कर की दावेदार बन के उभरी। इसी साल पंकज त्रिपाठी ने अपना पहला इंटरनेशनल प्रोजेक्ट ‘मैंगो ड्रीम्स’ भी किया। ये फ़िल्म अमेरिका के एक इंडिपेंडेंट फिल्मकार जॉन अपचर्च ने बनाई। उन्होंने पंकज त्रिपाठी के अभिनय से प्रभावित हो के उनके साथ ये फ़िल्म बनाई। अपनी कला और प्रतिभा से पंकज त्रिपाठी ने बिहार का नाम रौशन किया है।

अपनी जड़ों से जुड़े रहने वाले और ग्रामीण जीवन का महत्च समझने वाले इस अभिनेता ने “बिहार सम्मान” मिलने पर कहा कि “‘बिहार सम्मान’ से पुरस्कृत होकर अभीभूत हूँ। ये पुरस्कार उन समस्त ग्रामीण युवाओं को समर्पित है जो संसाधनों के कमी के बावजूद आसमां छूने के ख्वाब देखते है।”

बिहार फाउंडेशन के मुम्बई चैप्टर द्वारा आयोजित किये गए बिहार दिवस उत्सव में पंकज त्रिपाठी को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा ये सम्मान दिया गया। इस समारोह में बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे।

Do you like the article? Or have an interesting story to share? Please write to us at [email protected], or connect with us on Facebook and Twitter.


Quote of the day: “Only the very weak-minded refuse to be influenced by literature and poetry.” 
― Cassandra Clare, Clockwork Angel

Comments

comments