स्वर्ण कांता

हिन्दी की लड़कियां | रवीश कुमार द्वारा लिखित सीरीज़ की पहली लड़की बिहार से

रवीश कुमार द्वारा लिखित- बहुत दिनों से मेरे दिमाग़ में एक बात कौंध जाती है. हिन्दी की लड़कियां. लड़कियां हिन्दी या अंग्रेज़ी की नहीं होती हैं. पर जो लड़कियां मेरे दिमाग़ में हैं, मैं उन्हें हिन्दी की ही कहना...
विभा

क्या बिहार सिर्फ नायक प्रधान देस है ?

बिहार में विशेषज्ञ कदम-कदम पर मिलेंगे, राजनीतिक विश्लेषक तो हर चौक—चौराहे पर. जो नामचीन विशेषज्ञ हैं वे तो हर विषय पर हरवक्त बोलने को तैयार बैठे रहते हैं. कई नामचीन विशेषज्ञों से जानने की कोशिश कई बार की कि आखि...
चंदू , चंद्रशेखर, Chandu, Chandrashkekhar JNu

चंद्रशेखर तुम होते तो हम साथ-साथ उम्र जी लेते | एक कविता बिहार से

डर लगता है जब कोई दिवार लांघने की कोशिश करता है| डर लगता है जब कोई सच कहने की कोशिश करता है| डर लगता है जब किसी के विचार एक बाहुबली से टकराते हैं| डर लगता है जब कोई चंदू बनने की राह पर होता है| कन्हैया और रोहित...
मौलाना मज़हरूल हक़

कौमी एकता के मिसाल | मौलाना मज़हरूल हक़

देश की आज़ादी की लड़ाई में शामिल महान विभूतियों में से एक नाम मौलाना मज़हरूल हक़ का है जिन्हें हिन्दू-मुस्लिम एकता का प्रतीक भी माना जाता है। साल 1866 में पटना के बहपुरा नामक गांव में जन्मे मौलाना के बलिदान आदर...
संजय कुमार अग्रवाल , Sanjay Kumar Agarwal, Ias

पटना के DM साहेब, जिन्हें राष्ट्रपति ने भी सराहा, बाढ पीड़ितों को परोसा खाना, खुद भी साथ खाया

जिनके हाथों में है पटना की कमान, सादगी ही है जिनकी पहचान और लोगों की परेशानी देखकर खुद भी परेशान हो जाते हैं और उसे दूर करने के उपाय में लग जाते हैं, एेेसे हैं पटना जिले के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल, जो अपन...
राजकुमार शुक्ल

कहानी राजकुमार शुक्ल की, जिन्होंने चंपारण में तैयार की गांधी के सत्याग्रह की जमीन

- निराला जो चंपारण में गांधी के सत्याग्रह को जानते हैं, वे राजकुमार शुक्ल का नाम भी जानते हैं. गांधी के चंपारण सत्याग्रह में दर्जनों नाम ऐसे रहे जिन्होंने दिन-रात एक कर गांधी का साथ दिया. अपना सर्वस्व त्...