Abdul Qavi Desnavi, google doodle

जानिए उस बिहारी को जिसे आज गूगल कर रहा है याद

जैसा की आप जानते ही होंगे की गूगल कुछ खास मौक़ो पर ही अपना डूडल जारी करता है। आज 1 नवम्बर 2017 को गूगल ने अपना डूडल अब्दुल क़वी देसनवी को समर्पित किया है, आख़िर क्यों ? क्या है इनके बारे में ख़ास जो गूगल ने इन्...
सौरव आनंद, Saurav Anand

न्यू यॉर्क में बैठे इस बिहारी की कलम से पटना की कहानियाँ

पटना में जन्में और पले बढ़े सौरव आनंद को भी करोड़ों बिहारियों की तरह उनका करियर उन्हें बिहार से, अपने घर से दूर परदेस ले गया। ज़िन्दगी में सफलता की चाह ने उनके घर से उनका फासला बढ़ाया और बढ़ते बढ़ते वो आज न्य...
रेखना मेरी जान, रत्नेश्वर सिंह, Ratneshwar Singh, Rekhna Meri jaan

“रेखना मेरी जान” के रत्नेश्वर कुमार सिंह से एक ख़ास बातचीत

हाल ही में अपनी किताब रेखना मेरी जान के लिए  पौने दो करोड़ का करार साइन करने वाले रत्नेश्वर जी पटना के निवासी हैं | रेखना मेरी जान उनकी उन्नीसवीं किताब है. नेशनल बुक ट्रस्ट से मीडिया पर एक किताब मीडिया लाइव छप...
राइडर राकेश

राइडर राकेश, वो बिहारी जो साइकिल पे निकला है लिंग-भेद मिटाने

  गीता, तिनम्‍मा, शांति, हसीना हुसैन और राजलक्ष्‍मी. कर्नाटक के इन तेज़ाब पीडितों में से हसीना हुसैना (हरे लिबास में) के अलावा बाकी सबको उनके पतियों ने तेज़ाब में धोया. तिनम्‍मा की गोद में तीन महीने का...