एक कविता बिहार से

सुकून की तलाश | एक कविता बिहार से

शाम्भवी सिंह का जन्म बिहार के पटना जिले में हुआ है । मूलतः ये नवादा जिले की है लेकिन उनकी प्रारंभिक पढ़ाई लिखाई देवघर में हुई। इन्होंने एनएसएचएम कोलकाता से पत्रकारिता में बीए किया । तत्पश्चात महात्मा गांधी काशी...
Abdul Qavi Desnavi, google doodle

जानिए उस बिहारी को जिसे आज गूगल कर रहा है याद

जैसा की आप जानते ही होंगे की गूगल कुछ खास मौक़ो पर ही अपना डूडल जारी करता है। आज 1 नवम्बर 2017 को गूगल ने अपना डूडल अब्दुल क़वी देसनवी को समर्पित किया है, आख़िर क्यों ? क्या है इनके बारे में ख़ास जो गूगल ने इन्...

हाँ सलमान खान, बिहार में भी लोग “ब्रो” बोलते हैं

डियर सलमान ख़ान, घबराइये नहीं, ये वो वाला डियर नहीं है जिसका शिकार आपने नहीं किया था। खैर, ये ओपन लेटर लिखने के पीछे का कारण है आपके "रियलिटी" शो 'बिग बॉस' की एक वायरल होती क्लिप जिसमे आप बिहार से कॉल करने वाले एक कॉलर के "ब्रो" बोलने पे उसका मज़ाक उड़ाते ह...
मंगलमुखी, Transgender, patnaBeats, Patna

किन्नरों की ज़िन्दगी के संघर्षों को दिखाता नाटक मंगलमुखी

किन्नर, इंसानों का तीसरा जेंडर। हिजड़ा, छक्का जैसे शब्दों से अपमानित किये जाने वाले हम आप जैसे सामान्य लोग। हम सभी ने कहीं न कहीं देखा है इनको, अधिकतर बार ट्रेनों में, सिग्नल पर माँगते हुए या रेड लाइट एरिया मे...
Chhath Puja, Bihari Festivals

ये छठ जरूरी है | एक कविता बिहार से

कुमार रजत दैनिक जागरण पटना में डिप्टी चीफ सब एडिटर हैं। पत्रकार होने के साथ खूब कविताएं भी लिखते हैं। अपनी पत्रकारिता में ये पटना शहर के जड़ को ढूंढते रहते हैं। मसलन “हर घर कुछ कहता है” और इसी तरह कई रचनात्...