‘यू नो आई हेट बिहारी पीपल’ क्या करें ऐसी सोच वाले ‘वेल एजुकेटेड’ लोगों का?

मैं डिपार्टमेंट से गुज़र रहा था कि चलते-चलते हल्की सी आवाज़ कान मे पड़ी, दो लोगों आपस में बात कर रहे थे। उनमें से एक ने किसी बात पर कहा, “यू नो आई हेट बिहारी पीपल…” उस वक़्त मेरी क्लास थी और मैं ज़ल्दी में था तो चला गया। बाद में वही व्यक्ति किसी जूनियर को देखक...
सौरव आनंद, Saurav Anand

न्यू यॉर्क में बैठे इस बिहारी की कलम से पटना की कहानियाँ

पटना में जन्में और पले बढ़े सौरव आनंद को भी करोड़ों बिहारियों की तरह उनका करियर उन्हें बिहार से, अपने घर से दूर परदेस ले गया। ज़िन्दगी में सफलता की चाह ने उनके घर से उनका फासला बढ़ाया और बढ़ते बढ़ते वो आज न्य...
बिहार की दुर्गा पूजा, Bihar, Durga Puja

घर से दूर रह रहे बिहारी को जब याद आयी बिहार की दुर्गा पूजा

दुर्गा पूजा में घर से बाहर हूँ, बड़ा अजीब लग रहा है। सुबह सुबह नींद खुलता था धूप और हुमाद के महक से और दिन भर दुर्गा सप्तशती का पाठ चालू रहता था घर में साथ में शंख, घंटी और बगल वाला पंडाल से लखबीर सिंह लक्खा का गाना का आवाज़, पूरा माहौल भक्ति में डूब जाता। पूर...